name6.png

 

 

प्राचार्य सन्देश

         बदायू जिले की सहसवान तहसील के नाधा परिक्षेत्र में आशीष रूपी अन्धकार को दूर करने हेतु राष्ट्रीय उच्चतर शिक्षा अभियान (RUSA) के अन्तर्गत मशाल रूपी राजकीय महाविद्यालय, नाधा (प्रदेश  के चुनिन्दा माडल महाविद्यालयों में से एक) की स्थापना एक ऐतिहासिक कदम है।  सत्र 2016-2017 से संचालित महाविद्यालय का उद्देश्य उच्च शिक्षा के प्रसार के साथ-साथ छात्र-छात्राओं को आत्मनिर्भर एवं जिम्मेदार नागरिक बनाकर राष्ट्र निर्माण में उनकी सक्रिय व रचनात्मक भागीदारी सुनिश्चित करना है, क्योकि राष्ट्र का भविष्य छात्र-छात्राओं के भविष्य के कदमों में निहित है।  महाविद्यालय के प्रथम नियमित प्राचार्य के रूप में मेंरी नियुक्ति एक चुनौती से कम नहीं है, पर मैं पूर्ण रूप से आष्वस्त हूँ कि अशिक्षा रूपी अन्धकार को अतिशीघ्र समाप्त कर एक नई सुबह की शुरुआत होगी।  पुस्तकीय ज्ञान के साथ-साथ सांस्कृतिक ज्ञान, रचनात्मक ज्ञान, प्रयोगात्मक ज्ञान और नैतिक ज्ञान उपलब्ध कराना महाविद्यालय की प्राथमिकता में है और महाविद्यालय निश्चित रूप से इन्ही उदेश्यों की पूर्ति हेतु निश्चित और नियमित दिशा में अग्रसर है।  Be Smart ,Do Smart, & Make Smart  की भावना के साथ में आप सभी के उज्जवल भविष्य की कामना करता हूँ ।

 

  डॉ.नरेश पाल  

     प्राचार्य

Anti Ragging Zone

Importent Link's

Website designed by WEB EYE MASTER